मैडम करीना की प्रेगनेंसी बाइबिल-हे भगवान 2020 में आप क्या क्या दिखाओगे?

ऊपर दी गयी फोटो देख कर आप समझ ही गए होंगे कि आज का मेरा आर्टिकल किस बारे में है ?
जी हाँ आप सही समझे ये मैडम करीना की प्रेगनेंसी बाइबिल के बारे में है, जिसमे उन्होंने 41 हफ़्तों की प्रेगनेंसी के सफर के बारे में महिलाओं को गाइड किया है, अब इनकी प्रेगनेंसी बाइबिल पढ़ने वाली महिलाओं को भगवान ही बचाये या हो सकता है कि ये किताब किसी अनुभवी डॉक्टर की सलाह पर लिखी गयी हो क्योंकि इनके प्रेगनेंसी का सफर और देश की बाकि औरतों का प्रेगनेंसी का सफर कहीं से कहीं तक मेल नहीं खाता है, और इनकी अभिनय क्षमता से आप परिचित ही हैं और शैक्षणिक योग्यता भी आपको पता ही होगी ।
सबसे मज़ेदार बात ये है कि जब मैंने इंस्टाग्राम पर इनका ये पोस्ट देखा तब सिर्फ एक ही बात दिमाग में आयी कि “हे भगवान 2020 में आप क्या क्या दिखाओगे? “
आइये चलते हैं इनकी प्रेगनेंसी बाइबिल के इंट्रो की कुछ लाइनों पर, जहाँ पर ये लिखा गया है कि “ये भारतीय महिलाओं को प्रेगनेंसी के दौरान एक्टिव रहने के लिए प्रेरित करती हैं” , और अपनी पहली प्रेगनेंसी में इन्होने एक बयान दिया था कि “प्रेगनेंसी को बीमारी की तरह नहीं देखना चाहिए”, अब या तो इन्होंने जिन महिलाओं को एक्टिव रहने के लिए प्रेरित किया है वो इनकी जैसी होंगी, जहाँ इनका अपना बच्चा एक आया के हाथों पलता है और ये खुद अपने बच्चे की ज़िम्मेदारी नहीं ले सकती हैं वही ये दूसरी औरतों को ज्ञान दे रही है कि प्रेगनेंसी में एक्टिव रहना चाहिए, या फिर इन्होंने देश में आम औरतों कि ज़िन्दगी नहीं देखी है।

 

रही बात एक्टिव रहने की तो मैं यहाँ ये जानने के लिए बहुत उत्सुक हूँ कि इनके एक्टिव रहने के मायने क्या है ?
अपनी प्रेगनेंसी का व्यापारीकरण करना या फिर अपने बेबी बम्प को कैश करवाना, क्योंकि देश में आपको छोड़ कर बाकि सभी औरते अपनी प्रेगनेंसी के दौरान एक्टिव ही रहती हैं क्योंकि करीना मैडम की तरह उनके पास हर काम के लिए नौकरों की लाइन जो नहीं है और उन्हें सारे अपने दैनिक काम खुद करने होते हैं जो आपने शायद ज़िन्दगी में न किये हो क्योंकि जहाँ आप प्रेगनेंसी में एक्टिव रहती हैं और हॉलिडे मानती हैं वही आम औरतें प्रेगनेंसी में अपने डेली रूटीन के काम निबटाती है और साथ में अपना बच्चा और पूरा परिवार भी संभालती हैं और कुछ अपनी जॉब भी करती हैं पर वो सब एक्टिव कहाँ हैं क्योंकि वो घर की, बच्चों की ज़िम्मेदारियों में इतना उलझी रहती हैं की उन्हें ये भी ध्यान नहीं रहता की वो अपना बेबी बम्प को सोशल मीडिया पर कैश करवाए।
इससे भी कड़वी सच्चाई ये है कि जो अलग रहकर अपनी डिलीवरी करवाती हैं उन्हें फिर भी आराम है पर संयुक्त परिवार में औरतों की हालत और उनकी प्रेगनेंसी का अंदाज़ा भी आप नहीं लगा सकती, यहाँ बहुओं से प्रेगनेंसी में भी मशीन की तरह काम लिया जाता है, जिसमे कई महिलाएं अपना बच्चा खो देती हैं और वो दर्द शायद आपने कभी झेला हो या आप शायद ही महसूस कर पाएं और कुछ खुशनसीब होती है जो अपने बच्चे को जन्म तो देती हैं मगर कॉम्प्लीकेशन्स के साथ और घर में एक ही एक्टिव सदस्य होता है वो है प्रेग्नेंट बहु बाकि सदस्य बहु के आने के बाद से ही सेलिब्रिटी प्रेगनेंसी का मज़ा ले रहे होते हैं और आपकी तरह एक्टिव रहते है, पर सभी जगह ऐसा नहीं हैं मैं यह नहीं कहूँगी क्योंकि सभी ये सलाह देते है कि जितना काम करो उतना अच्छा और फिर कम्प्लीकेशन हो जाये और ऑपरेशन से बच्चा हो तो भाई आजकल की लड़कियाँ बहुत नाज़ुक हैं ,बच्चा तक पैदा नहीं कर सकती और ये सब चलता रहता है पर आप को इन सबसे क्या मतलब आपको तो बस बड़बोलापन दिखा कर अपनी प्रेगनेंसी कैश करवानी है ।

 

गाँव की औरतों की प्रेगनेंसी तक तो इनकी नज़र जा ही नहीं पायेगी क्योंकि ये तो अपनी डिलीवरी करवायेंगी विदेश में और बिकाऊ मीडिया इनकी खबर ज़ोर शोर से दिखाएगी क्योंकि अगर गांव के हॉस्पिटल में सुविधाएँ नहीं है और वहाँ औरतें डिलीवरी के दौरान सही इलाज न मिलने पर एक हॉस्पिटल से दूसरे हॉस्पिटल भागते भागते अपनी ज़िन्दगी की दौड़ हार जाती है तो क्या फर्क पड़ता है, आपके शुरुआत करने से क्या हो जायेगा वहाँ एक हॉस्पिटल ही खुल जायेगा पर आपको क्या करना है और आपको कौन सा वह रहना है, आपको तो बस करीना की प्रेगनेंसी और तैमूर को हाईलाइट करना है बाकि देश से आपको क्या मतलब और मीडिया की शुरुआत जिस उद्देश्य से हुई थी वो शायद कहीं भटक गया है और मीडिया का स्तर भी अब करीना की प्रेगनेंसी की तरह ही बहुत एक्टिव हो गया है और इन्हें क्या पता कि गांव में प्रेग्नेंट औरतें घर का, खेतों का और अपने बच्चों का काम भी खुद ही करती हैं और कभी कभी खेतों में ही डिलीवरी भी हो जाती है पर करीना मैडम और इनकी खरीदी हुई मीडिया के हिसाब से ये इनकी तरह एक्टिव जो नहीं है तो क्या ज़रूरत है हमें कि हम कुछ भी बोलने से पहले सोचे ।

 

करीना मैडम से मैं बस इतना कहना चाहूंगी कि या तो आप अपनी किताब में बड़े बड़े अक्षरों में पाठकों के एक विशेष वर्ग को सम्बोधित करें या फिर देश की सभी प्रेग्नेंट महिलाओं को अपनी जैसी सुविधाएँ मुहैय्या करवाए और फिर ज्ञान बांटे और अगर आप ये नहीं कर सकती तो कृपया ये बड़बोलापन आप कॉफ़ी शो में जाके दिखाए क्योंकि देश की आम औरतों को आपकी सलाह की बिलकुल भी ज़रूरत नहीं हैं और सभी पाठकों से भी अनुरोध है कि ऐसे लोगों की किताबें पढ़ने से अच्छा है कि साहित्य जगत के रचनाकारों की किताबें खरीदें और उन्हें पढ़े और उन लोगों को आगे बढ़ाये जो खुद के बलबूते आगे बढ़ने की कोशिश कर रहे हैं नाकि इन पिताजी के पप्पुओं को जो सिर्फ अपने माता पिता के नाम से आगे बढ़ते हैं और प्रतिभावान लोग डिप्रेशन में चले जाते और उनके आत्महत्या करने के बाद आपका उनको सपोर्ट करना ज़रा भी तार्किक नहीं है, और उन्हें उनके जाने के बाद कोई फायदा भी नहीं मिलता भले ही आप कितना सोशल मीडिया पर प्रोटेस्ट करलो तो किसी आत्महत्या के बाद उसके लिए सोशल मीडिया पर आंदोलन करने से बेहतर है कि अभी से प्रतिभाओं को पहचानिये जिससे कि जो लायक है वही जीते और अपना दिमाग ज़रूर इस्तेमाल करें मीडिया का नहीं
धन्यवाद॥

2 thoughts on “मैडम करीना की प्रेगनेंसी बाइबिल-हे भगवान 2020 में आप क्या क्या दिखाओगे?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

three × five =